romance wali shayari, sher shayari romantic, romantic shayari

Romantic love shayari dil se 

Romance wali shayari, sher shayari romantic, romantic shayari dil se doston aaj kuch romantic feeling wali shayari laya hu jo apke dil ko chu legi. romantic shayari dil se dil milne par jo feeling milti h romance wali shayari karne ka dil karta h sher shayari romantic tab ho jati h jab sanam ka dil apni dhadkan se milta h fir hota h romantic love seen.  post ko apne facebook par share karne karna jarur.




romance wali feeling shayari
photo credit shayarana group facebook 

                                              आवारा नथनी शायरी

बहुत ही शरारती है ये तेरी ..
ज़ेवर का बहाना बना के तेरे होंठो को चूमती है...!!


मैं ज़ेवर साड़ी चुड़ी झुमके कुछ नहीं माँगती
मेरे लिए तुम्हारा कन्धा ही काफी है...!!


                                         चेहरे पर फैली हया शायरी 

छुपाऊ तो छुपाऊ कहाँ ये चेहरे पर फैली हया..

तेरे नाम लेने से ही जो रूखसार पर बिखर जाती है....!!


लौ की नियत शायरी 
बहक ना जाए कही लौ की नियत..
होठों से चूल्हा तू यूँ जलाया ना कर...!!



माथे की बिंदिया शायरी 

बिखरी मेरी लटों में उलझे हुए से तुम..
माथे की बिंदिया में आकर सम्भल गए..

आंखों के काजल शायरी 


हाथों के कंगन में बजते हुए से तुम..
आंखों के काजल में आकर बस गए...!!


रात ख्वाबो में उफ्फ शायरी 

वो छू गये इन लबों को रात ख्वाबो में उफ्फ..
तब से बस ये यूँ खिले खिले से हैं...!!

क़हर नाप कर शायरी 
ज़ुल्फ का बराबर लबों के आख़िर तक आना..
जैसे किसी दर्जी ने बनाया हो क़हर नाप कर...!!

तेरे चहेरे की शायरी 
लटे भी तेरे चहेरे के लाड करती हैं..
हटाऊ जहां एक को वहां दुसरी परेशान करती हैं...!!

मुझे तेरा साथ जिंदगी भर नहीं चाहिये..
बल्कि जब तक तू साथ है तब तक जिंदगी चाहिये...!!

 मैं सिर्फ तुम्हारी हूं शायरी 

वो एक ही पल में जी ली मैनै अपनी जिंदगी..
जिस पल तुमने कहा मैं सिर्फ तुम्हारी हूं...!!


तुम दिल में रहो शायरी 

तुम दिल में रहो और मेरे रहो इतना ही बहुत है..
मुलाकात की हमें इतनी भी जरूरत नहीं...!!


romance wali shayari
photo credit shayrana group on facebook

केसा सुरुर शायरी 

ये केसा सुरुर है तेरे इश्क़ का महरंबा..
सँवर कर भी रहते हैं बिखरे बिखरे से हम...!!

जानते ही किसे कहते है जन्नत में घूमना..
उन्हें बाँहो में भर के उनके माथे को चूमना...!!

लब उनके गालों तक शायरी 
जो आज हमारे लब उनके गालों तक पहुँच गये..
हम थे तो यहीं ज़मीन पर पर जन्नत में पहुँच गये...!!

दिल मे ख्वाहिश रहेगी शायरी 
तुम रखा करो कोशिश यू ही गुलाब सी खिलने की..
दिल मे ख्वाहिश रहेगी तुमसे बार-बार मिलने की...!!

चिराग बुझा दो शायरी 
ये बेपनाह हुस्न यूँ सादगी से शरमाये..
चिराग बुझा दो कहीँ आग ना लग जाए...!!

शराब और तुम्हारी आँखो शायरी 
अदालत में भी आजकल समा चल रहा है..सुना है
शराब और तुम्हारी आँखो के बीच मुकदमा चल रहा है...!!

न किया कीजिए शरारत अपनी मदहोश नज़रों से सनम..
मचल गया दिल-ऐ-नादान तो बड़ी मुश्किल हो जाएगी...!!

काली काली साड़ी तेरी शायरी 
तेरे हुस्न से लीपटी हैं काली काली साड़ी तेरी..
मत आ जाना सामने तु कही लग ना जाये तुझे नजर मेरी...!!

गालों पर बिखराये शायरी 
आधी ज़ुल्फ़ें कांधों पर बाकी गालों पर बिखराये..
पेड़ों के झुरमुट में जैसे "आधा चाँद" नज़र आये...!!


romance wali feeling shayari
photo credit pixaway.com

जो सादगी पायी हैं शायरी 
अल्फाजों में क्या बयाँ करूँ तुने जो सादगी पायी हैं..
सच शब्द नहीं कुछ कहने को बस चाँद तेरी परछाई है...!!


ये लाली ये काजल शायरी
ये लाली ये काजल और ये जुल्फेखुली खुली अरे ऐसे ही..जान मांग लेती इतना इंतजाम क्यो किया...!!

समुन्दर सा इश्क शायरी 
तीनके सी मैं ओर समुन्दर सा इश्क..
ड़ूबने का डर ओर डूबना ही इश्क...!!

इश्क़ तो बाद में शायरी 
पहले तराशी गई होंगी आंखें तेरी..
इश्क़ तो बाद में ईजाद हुआ होगा...!!

ओढ़ कर पल्लू वो निकले है घर से..
मैंने पहली बार देखा है धूप मे चाँद को जलते हुये...!!

आँखो में काजल लगा कर रखती शायरी 
जब मिलूं उनसे तो नज़र उतार लूँ..
ये सोच कर आँखो में काजल लगा कर रखती हूँ...!!

ये दिल सिर्फ बहलता शायरी 
तेरी आँखों की कशिश खींचती है इस कदर..
ये दिल सिर्फ बहलता नहीं बहक जाता है...!!

तू जो मुस्कुरा भी दे शायरी 

फीकी फीकी सी है जुबा तेरे गुफ्तगू के बिना..
तू जो मुस्कुरा भी दे तो फना हो जाउ...!!


romantic love shayari
photo credit pixaway.com

सबुत ए-इश्क है शायरी 
तुम्हारे खयाल से फिजा का युँ रँगीन हो जाना..

महज ये इत्तेफाक नही सबुत ए-इश्क है...!!
                                                               
                                                                   कितने पहरेदार शायरी 
घूंघट क्या सरका है सर से अब जुल्फ से दरकार हैं..
इक तेरे से चेहरा छुपाने को कितने पहरेदार हैं...!!

तेरी नर्म साँसों ने ऐसे छुआ है..
कि मेरे तो पाँव बहकने लगे हैं...!!

ये महोबत है मेरी शायरी 
चुपचाप तेरी धडकनों को सुनना..
शरारत ही सही ये महोबत है मेरी...!!

नजरों को अपनी निगाहो शायरी 

न चुरा तु मेरी नजरों को अपनी निगाहो से..
दिल सम्भालना मुश्किल हो जाएगा तेरी इन अदाओं से...!!


नीम सी कड़वी लडाईया शायरी 
चाशनी मे डुबी दुनिया की मोहब्बते एक तरफ..
मेरी तुम्हारी नीम सी कड़वी लडाईया एक तरफ...!!

बहक जाने दो आज शायरी 
बहक जाने दो आज ज़रा सा हमें भी..
सुना है होश में लाने का हुनर आता है तुम्हें...!!

आँखों से छलकता इश्क़ शायरी 

लबों से उसने कुछ कहा ही नहीं..
इश्क़ उसकी आँखों से छलकता था...!!


आंखे बेहतर बोल शायरी 
जुबान को कोई और काम दे दो..
आंखे बेहतर बोल लेती है तुम्हारी...!!

shayari romance wali
photo credit shayarana group facebook 

जहां ख़ामोशियां बोलती हों शायरी 
गुफ्तगू धड़कन की हो वहां लबों की बात ज़रूरी नहीं..
जहां ख़ामोशियां बोलती हों वहां अल्फ़ाज़ ज़रूरी नहीं...!!

कातिल कजरारी आंखे शायरी 
ये हुस्न ये जुल्फें ये कातिल कजरारी आंखे..
चिरागों को बुझा दो कहीं आग न लग जाय...!!

गुलाब जिस्म का शायरी 
गुलाब जिस्म का यूँ ही नहीं खिला होगा..
हवा ने पहले तुझे फिर मुझे छुआ होगा...!!


मुफ्त में दिल चुराते हो शायरी 
नजर मिलाके अदा से मुस्कुराते हो..उफ़्फ़्फ..चोर हो तुम मुफ्त में दिल चुराते हो...!!

 मै खुश हूँ शायरी 
एक नजर देख के सौ नुक्स निकाले मुझमें..फिर भी मै खुश हूँ कि मुझे गौर से देखा तूने...!!


अक्स की खुशबू शायरी 
मैं कुछ लिखूं और तेरे अक्स की खुशबू ना आए..
उफ़्फ़ या मौला ये तो तौहीन होगी मेरे लफ़्ज़ों की...!!

romance wali shayari
photo credit shayarana group facebook 

इश्क़ कमबख्त शायरी 
इश्क़ कमबख्त बनारसी पान सा..
एक पत्ते पर सजते है सारे जज़्बात...!!

आशिकाना अंदाज़ शायरी 
क़ातिलाना निगाहें आशिकाना अंदाज़..
चेहरा है खूबसूरत और लब है बेमिसाल...!!

तुम्हे देखूँ या तुम मे खो जाऊँ शायरी 
इतनी मिन्नतों के बाद रुबरू हुए हो..
समझ नही आता तुम्हे देखूँ या तुम मे खो जाऊँ...!!

मेरी शबनमी सी सुबह का..
मखमली एहसास हो तुम...!!

नज़र ही काफ़ी शायरी 

ज़ुबाँ तो फ़क़त दिखावा है पागल..

नज़र ही काफ़ी है गुफ़्तुगू के लिये...!!

तेरा नशा एक तलब शायरी 
तेरा नशा एक तलब है और तु आदत सी है..
मैं एक ज़िस्म हूँ तुम मेरी रूह सी है...!!

फ़क़त आंखें हैं तेरी शायरी 

अपने ही चेहरे को तूने ठीक से देखा ही नहीं कभी..
कई झीलों के बराबर तो फ़क़त आंखें हैं तेरी...!!

एक पल में खींच लिया शायरी 
एक पल में खींच लिया किसी धागे ने हमें..
और दे दी इजाजत मुहब्बत को साँस में पिरोने की...!!

हर रंग की चूड़ी पर दिल शायरी 

उन्हें न जाने कौन सा रंग भाता होगा..
बस यही सोचकर हर रंग की चूड़ी पर दिल आ जाता है...!!

तुम्हारे दूर रहने से हमें तकलीफ होती है..
आज इतना करीब आ जाओ की हम बहक जाये...!!

दिल जवाँ है तो हर लम्हा इक मौका है शायरी 
उम्र का क्या है महज एक धोखा है..
दिल जवाँ है तो हर लम्हा इक मौका है...!!


मुझे तेरे सिवा शायरी 
हर तस्वीर बदल डाली मैने बस मेरे एक आईने के सिवा..
खुद का देखा आईने मे नजर कुछ नही आया मुझे तेरे सिवा...!!

ज़ुल्फो में बसा कर बादल शायरी 
आंखो में लगा कर काजल ज़ुल्फो में बसा कर बादल..
ऐ-मेरे सनम तुम कहाँ चले हवा में लहरा कर आंचल...!!

चाय जैसी मोहब्बत शायरी 

चाय जैसी मोहब्बत है तुमसे..
आदत है  इबादत है या नशा कह लो...!!

तेरे गालो से चिपक शायरी 

तेरी ये जुल्फे भी शरारत बहुत करती है..
मौका मिलते ही तेरे गालो से चिपक जाती है...!!

महके महके से लम्हे शायरी 
महके महके से रहते हैं खुशबू से तेरी..
तुम बनके इत्र बिखर गये हो मुझमें कहीं...!!



सुन ओये मैं जयपुर की रानी तु अज़मेर का राजा..
अगर चाय पीनी हो तो पिंक पर्ल तक आजा...!!


मेरे होंठो से लाली शायरी 

मेरे होंठो से लाली चुराकर..

मेरी मेहदी में समाकर मुझे रंग गए...!!


इश्क आँखों से होता है शायरी 

गलत सुना था कि इश्क आँखों से होता है..
दिल तो वो भी ले जाते है  जो पलकें तक नही उठाते...!!

अपनी बाँहों का घेरा शायरी 
ज़रा जोर से कसना अपनी बाँहों का घेरा तुम..
कि आज कुछ बिखरे -बिखरे से है हम...!!


 वो शहजा़दी शायरी 
मैं भी देखूँगी आसमान से उतरी हुई वो शहजा़दी..
वक़्त मिला तो तुम्हारी बीवी से मुलाकात करूँगी मैं...!!

पलक पलक है झुकी शायरी 

बड़ी सी आँखे महीन अबरू पलक पलक है झुकी हुई सी..
सुराही गर्दन सियाह जुल्फें लबों पे सुर्खी लगी हुई सी...!!

किसी ग़ज़ल की तरह शायरी 

ये आँखें हैं जो तुम्हारी किसी ग़ज़ल की तरह खूबसूरत है..
कोई पढ़ ले इन्हें अगर इक दफ़ा तो शायर हो जाए...!!

महक जुदा ही रहती है शायरी 
महक जुदा ही रहती है गुलाब की..
फूल चाहे जितने भी हो उस बाग में...!!


इश्क के चांद को शायरी 
इश्क के चांद को अपनी पनाह में रहने दो..
लबों को ना खोलो आंखों को कुछ कहने दो...!!

दामन इश्क़ से शायरी शायरी 

सारी उम्र बचाया मैंने अपना दामन इश्क़ से..       
अब बाल सफ़ेद होने लगे तब इश्क़ ने रंगना सिखा दिया...!!

इश्क सिर्फ जवानी में शायरी 

कहीं पर भी लिखा नहिं की इश्क सिर्फ जवानी में ही होता है..
लेकिन ये जब भी होता है इन्सान जवान जरूर हो जाता है...!!

यूँ खिले खिले से शायरी 

वो छू गये इन लबों को रात ख्वाबो में उफ्फ..
तब से बस ये यूँ खिले खिले से हैं...!!


गर्माहट तुम्हारी बाहों सी शायरी 


मुझे धूप की गर्माहट तुम्हारी बाहों सी लगती है..
और शाम की ठंडक तुम्हारे लबों सी कहाँ जाऊं कि तुम महसूस न हो...!!





दिल चाहता है कि बहुत करीब से देखूं तुम्हें..
पर ये नादान आँखे,तेरे करीब आते ही बंध हो जाती है...!!


मुहब्बत का इत्र शायरी 


मुहब्बत का इत्र हूँ आख़री साँस तक महकूँगी
तेरी मोहब्बत भरी इक नज़र के लिए..हमने हर बार संवरने के बहाने ढूँढे...!!

सुन ओये मेरे ज़िगर के टुकड़े..मुझे तेरा और तेरी पोस्ट का इंतजार रहता है ऐसे.. Breaking News हो  कोई जैसे...!! 



सुनो जान
किसी दिन आऊंगी मौका पा कर तुम्हारे गांवसुना है तुम चाय बहुत अच्छी बनाते हो
मैं इश्क़ में हूँ नाकाम प्रिये तुम कुल्ल्हड वाला ज़ाम प्रियेमैं पागल प्रेम में मतवाला तुम नशा चाय की मधुशाला

Post a Comment

0 Comments