dard bhare whatsapp status shayari, gam bhari shayari

दर्द भरे व्हाट्सप्प स्टेटस और गम भरी शायरी 


दिल से निकली कुछ खाश शायरी, गम भरी शायरी के साथ दर्द भरे व्हाट्सप्प स्टेटस शायरी के रूप में जो आपके दिल तक जरूर पहुंचेंगे पसंद न आये तो बताना दोस्तों, दर्द भरे व्हाट्सप्प स्टेटस शायरी और गम भरी शायरी आपको पसंद आई या नहीं मुझे कमेंट के जरिये जरूर बताना दोस्तों और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना शायरी लड़कियों को भी इम्प्रेस कर सकते हो कुछ दिल को चुने वाली बेहतरीन शायरी है  
                                             
                                                       दर्द भरी  शादी की शायरी 





तुम भी तड़फोगे एक दिन शायरी 
जितना तड़फा हु उतना एक दिनतुम भी तड़फोगे 
जिस जिस गली भटका हु तुम भी भटकोगे..
खेल खेला जो मोहब्बत का इतनी सफाई से
गले मिलना तो छोड़ो हाथ मिलाने को भी तरसोगे...!!




लकडिया हमेशा एक बात कहती है
ससुराल होता मायका होता पर उनका कोई घर नहीं होता..
कभी लड़को के बारे में सोचा है जो घर से बहार पैसे कमाने
के लिए जाते और अपने घर में मेहमान तरह रहते है...!!


इंसान का अकेला होने का कारण शायरी 
इंसान अकेला उस एक कारण  हो जाता है..वो अपनों का छोड़ने मसवरा गैरो से लेता है...!!
वैसे कोई वजह नहीं है नाराजगी की
बस ज़िद्द है यूही नाराज हुए बैठे है..
गांव में सबकुछ ही अपना था
तेरे लिए शहर में किराये दार बन कर बैठे है...!!


वो अब वो न रहा शायरी 
वो अब वो ना रहा अब लगता कोई और है..
देखता है अब भी मुझे पर दिल में रखता अब कोई और है...!!

जाना तुमने रिश्ते को थोड़ा शायरी 
जाना तुमने रिश्ते को थोड़ा और वक़्त दिया होता तो आज में शायर नहीं बनता..
अगर तुमने दिल से मोहब्बत निभाई होती तो मेरी नजरो में तू  कायर नहीं बनता...!!


अनजाना सगुन शायरी 
देखो अनजाने में कैसा है सगुन निकला..
उसके होने वाले का नाम भी अरुन निकला...!!


वो पागल लड़की अनजाने में मेरा नाम सुन कर रुक जाती होगी..
जैसे पलटी थी सिमरन राज के लिए वो वैसे पलट तो जाती होगी...!!

खेल जो खेला मोहब्बत का शायरी 

gam bhari shayari
फोटो क्रेडिट फेसबुक ग्रुप शायराना अंदाज 

अपने गिरने से लेकर उठने की कहानी शायरी 
अपने गिरने से लेकर उठने तक की कहानी इन पन्नो पर में उतारी है..
आप सब तो सिर्फ पड़ते है हमने सच में ऐसी ज़िंदगी गुजारी है...!!


गैरो की भाहों में महफूज शायरी 

जाना सुनो नींद अब ना जाने रातों में मुझे क्यू आती नहीं..
गैरो की बाँहों कैसे महफूज हो ये सोच दिमाग से जाती नहीं...!!


कम्बख्त दिल शायरी 
रूबरू हो गया था दिमाग तेरी हरकतों से..
कम्बक्त दिल बाज नहीं आया अपनी आदतों से...!!

जिस्म के कारोबार में इश्क़ बदनाम हो रहा है..
सच्ची मोहब्बत के सिवा हर चीज़ पर एतबार हो रहा है...!!

एक बार याद करना शायरी 
जिस दिन तुम्हारा साथ कोई ना देना एक बार याद करना..
पूरी दुनिया देखेगी तुमसे मोहब्बत किसने की थी....!!

इश्क़ खतरनाक नशा है शायरी 
इश्क़ मोहब्बत दुनिया का सबसे
आखरी और खतरनाक नशा है..
अगर तुम प्यार करने का दावा करते हो
तो उसे निभाने की हिम्मत भी रखो...!!


कितनी रातों के वादे टूटेंगे शायरी 
रिश्ते मर्जी के खिलाफ जुड़ेंगे
एक दिखावटी ख़ुशी सब झूमेंगे..
मुबारक हो ये शादी मौसम
ना जाने कितनो के रातों के वादें टूटेंगे...!!

दगा देकर शायरी 
कितना बैचैन हुवा होगा वो भी दगा देकर..
पूछता हु बस खुद से खुद को सजा देकर...!!


हर बात का साबुत इश्क़ में शायरी 
जो कहती थी कॉलेज में इवेंट है पार्ट लू क्या..
आज कहती है विश्वाश नहीं तुझे हर बात का प्रूफ दू क्या...!!


पहले दिल में मेरी जगह बनाई 
फिर अपनी मुझे आदत लगाई..
जरुरत बन गए जब वो ज़िंदगी हमारी 
तब जा कर उन्हें मजबूरिया याद आई...!!


शक शायरी 
शक करना गलत था..
लेकिन शक सही था...!!


ठुकराया श्यारी और आसमान शायरी 
जिन्होंने ठुकराया मुझे उन्हें आम कर दुगा..
जिस नाम से जुड़ूगा उसे आसमान कर दुगा...!!

उसके होने वाले का नाम भी शायरी 
gam bhari shayari
फोटो क्रेडिट ट्वीटर 


ये सच है ये की में उसके बैगैर नहीं रह सकता
मगर दूसरा सच ये भी की..
उसके बैगर अब ज़िंदगी गुजारनी पड़ेगी...!!

रोने की हिम्मत नहीं है शायरी 
बहुत खोया है अपनों को अब और खोने की हिम्मत नहीं है..
ऐ खुदा अब किसी को जुदा मत करना अब रोने की हिम्मत नहीं है...!!


हब्बी के नंबर सेव शायरी 
वो कसम खाते वक़्त बचपन वाला क्रॉस किया था क्या..
मेरी जान लैला मजनू का example दे लोग टर्म प्लानिंग क्यू क्या था..
सबसे पहले ये बता फ़ोन में हब्बी नाम से कितनो का नंबर सेव किया था...!!


मोहब्बत में कायर शायरी 
कुछ बिछड़ गए मोहब्बत में कुछ को मोहब्बत ने कायर बना दिया..
कुछ ने छोड़ा नहीं मैदान मोहब्बत का कुछ कोमोहब्बत ने शायर बना दिया ...!!


कश्मे और वादे शायरी 
कश्मो और वादों के जाल में पड़ना कभी ..
अगर कस्मे सच होती तो आज में जिन्दा नहीं होता ...!!


विश्वाश वाली मोहब्बत शायरी 
विश्वाश करने और टूटने के बिच का जो फासला होता है..
यकीन मान दोस्त उसी का नाम मोहब्बत होता  है ...!!


मोहब्बत में दर्द काअहसास  शायरी 
एक शख्स मुझसे रोज मुलाकात करता था ..
दिन मेरे और किसी के साथ रात करता था ..
आया जब जब मुझसे मिलने मेरे बुलाने पर वो ..
मेरे साथ होकर भी किसी और की बात करता था वो ...!!

मुझसे दूर रह कर भी उसे मोहब्बत मेरे से इतनी हो जाए ..
मुझसे ज्यादा नहीं सही पर कम से कम मेरे जितनी हो जाए ...!!


मोहब्बत में बद्दुवा मत दे शायरी 
अब फैसला कर लिया है तो हाथ छोड़ और घर जा ..
कोई भी बदुआ दे मगर ये मत कह की मर जा ...!!


किस मज़बूरी में शायर बने शायरी 
शक करके कहती है शायर किसी एक के हुवा नहीं करते ..
अरुण बता उसे किस मज़बूरी में शायर बनना पड़ता है ...!!


माँ वाली शायरी 
संदूक में रखे माँ के पीतल के जेवर कैसे बेचू ..
मेरी महबूबा कहे तुमसे एक तोफा भी नहीं दिया जाता ...!!


तेरे हर जूठे वादे जूठी कसमों को 
सराखों पर रख कर सलाम ..
चाहे ज़िंदगी में कितनी आगे निकल जाव 
नहीं भूलुंगा तेरे दिए हुवे जख्मो के निसान...!!


जाने कैसा महबूब है शायरी 

नाराजगी दूर नहीं हुई हजारो बार मनाने पर ..
जाने कैसा मेहबूब है अड़ गया है रुलाने पर ...!!

तेरी तस्वीर शायरी 
तेरी तश्वीर से भी अब में सवाल पूछता हु ..
मत पूछ किस किस से में तेरा हाल पूछता हु ...!!

इश्क़ वाला सवाल भगवान से शायरी 
मत पूछ की मेरे हिस्से में क्या क्या आया 
जिसको मैंने सबसे ज्यादा चाहा वो नहीं आया ..
मैंने पूछा ये सवाल बाटने वाले से जब 
उसने सवाल तो बड़े गौर से सुना पर जवाब नहीं आया ...!!

रोज रोज उसे देखने की इस कदर आदत हो गयी है 
ना देखु तो दिन उदाश हो जाता है ..
उसके इश्क़ का कुछ ऐसा असर हुवा है मुझपे 
बारिश में भीगती वो है मुझे बुखार हो जाता है ...!!


बेताब मोहतरमा शायरी 
बड़ी बेताब थी कोई मोहतरमा हमसे मोहब्बत करने को ..
जब मैंने करली थोड़ी सी गुजारिश 
तो उसने अपना शोक बदल दिया ...!!



तुम बहुत सूंदर हो शायरी 
एक सच तो ये भी की तुम बहुत सूंदर हो ..
बस तुम्हारी ख़बसूरती के आगे 
मेरी मोहब्बत फीकी पड़ जाती है ...!!


मयखाना तेरी आखों का शायरी 
मयखाना तेरी आँखें, मय जाम में ढालूं क्या..
हैं होंठ तेरे अमृत, मैं प्यास बुझा लूं क्या...!!


दिसम्बर वाली शायरी 
याद-ए-यार का मौसम और सर्द हवायें..
ऐ दिल, तैयार हो जा  दिसम्बर आ गया है...!!



रंग बातें वाली शायरी 
रंग बातें करें और बातों से ख़ुश्बू आए..
दर्द फूलों की तरह महके अगर तू आए..!!


इश्क़ में इन्तजार शायरी 
इश्क़ में इंतज़ार की हद नहीं होती..
बस सुबह कहीं होती शाम कहीं होती...!!



तेरे मैसेज वाली शायरी 
एक तेरे व्हाट्सप्प के मैसेज के इंतज़ार में..
मैंने ने आज तक अपना नम्बर नहीं बदला...!!

मीठा मीठा इश्क़ शायरी
सुना है इश्क गुड़ से भी मीठा है..
तू सामने आई तो चख कर देखेंगे कभी...!!


अब ना करेंगे तंग तुझे शायरी 
नहीं करेंगें अब जरा भी तंग तूझें हम..
हो रहें हैं कुछ यूं तेरी यादों से भी रुख़्सत हम...!!

तेरी दीवानी शायरी 
मौत ने आँखें मिलाई थी कई बार मुझसे..
पर तेरी दीवानी किसी और पे मरती कैसे…!!

कुछ ना बचा शायरी 
कुछ बचा ही नही फिर पूछने को..
तुम्हारा नज़र फेर लेना करारा जवाब था..!!


करले हवाले मुझको शायरी 
तू हवा है तो करले हवाले मुझको..
इससे पहले कोई और बहा ले मुझको...!!


मेरी हसरते शायरी 
हुए जिस पे महरबां तुम कोई खुश नसीब होगा..
मेरी हसरतें तो निकली मेरे आँसुओं में ढ़ल के…!!



तेरे कदमो के निसान शायरी 
अपने क़दमों के निशान मेरे रास्ते से हटा दो..
कहीं ये ना हो कि मैं चलते चलते तेरे पास आ जाऊं…!!



मेरे हाथों पर अंकित किया गया
तुम्हारा स्पर्श..     
ईश्वर के तिलक जितना पवित्र हैं…!!


उसके पल्लू ने ना जाने कितने तुफानो को मोड़ दिया
छान के जहर को पल्लू से अमृत कर दिया..
कल आया था समंदर मुझे भी डुबाने
माँ ने उसे भी पल्लू में समेटा और निचोड़ दिया...!!



सिसकिया भरी शायरी 
शिसकया भरी और चुपचाप चल दिया अपने काम पर..
उसे रोने इजाजत नहीं थी qki मर्द का ठप्पा जो था उसके नाम पर...!!

Post a Comment

0 Comments