Chunnat wali Saree shayari in Hindi with images

Chunnat wali saree ke jalwe Hindi shayari 



here  you can get the best collection of chunnat wali  designer sarees shayari in Hindi, you can use it as your hindi whatsapp status and sand & share this chunnat wali saree shayari  on your facebook freinds.
kisi bhabhi ki tarieef shayari ke liye best colltection hei yeha par app apni feeling ko bhi share kar sakete ho facebook page ke liye best shayari hei husband apni patni ke liye shayari mai tareef kare other subject list of all Hindi chunnat wali shayari.



तेरे चेहरे को किसी रंग की जरूरत कहां ..

तू तो बिन रंग के भी रंगीन सी लगती है पीली लूगड़ी वाली ...!!



सुनो चुन्नट साड़ी वाली ....

sarees shayari in Hindi
chunnat wali FIR shayari



सुनो चुन्नट साड़ी वाली 

तुम्हारे ऊपर वाले लाल होंठ पर एक  FIR करनी है.. 

दिन रात मेरे अरमानों को दबा मेरी ख्वाहिशें चूमता रहता है...!!




श्रृंगार रस  शायरी... 

अच्छा सुनो...

तुम्हें कहा जरुरत किसी श्रृंगार की..

हल्का सा मुस्कुराती हो तो बेहद खूबसूरत लगती हो...!!






साड़ी वाली मोहतरमा.....
  
sarees shayari in hindi
saree chunnat wali 


सुनो चुन्नट साडी वाली मोहतरमा 

पायल घुंगरू बिंदिया काजल सब पड़े रहने दो..

खींच के झुल्फों को बांधो एक लट गालो पे रहने दो…!!




सुनो चुन्नट साडी वाली मोहतरमा .... 



रेशम के पर्दों से घर तो सजा लूंगा मैं..

मगर चाबियों की जिद्द हैं कमर उस चुन्नट साडी वाली की होनी चाहिए...!!




lovely sarees shayari hindi mai
chnnat wali kamar shayari

खुशबू मेहकेगी मेरी तेरे अलसाये तन से..

महक रही गालों पे तेरे मेरे लब की एक निशानी...!!




अच्छा सुनो चुन्नट सूट वाली...

चुन्नट वाली सफेद सलवार पर पीला कुर्ता ना पहना करो..

कल भाभी बोल रही थीं देख तेरी कढ़ी चावल आ गई…!!



sarees salwar suit shayari in hindi
chunnat salwar suit shayari



यूँ तो तेरी तस्वीरें बहुत हैं पास मेरे..

बस वो बिखरी जुल्फें हर तस्वीर में नज़र नहीँ आती…!!




सुनो जान...

बिन बुलाए मेहमान की तरह चली आती है..

तेरी याद ना जाने क्यूं मेरे चाय पीते वक्त

कभी तुम भी आ जाओ ना ऐसे ही बिन बुलाए ...!!





sarees shayari hindi
chunnat wali darpan shayari

दर्पण देखु "रूप" निहारूँ और सोलह "श्रृंगार" करू..

बंद "किवाडिया" बैठा बैरी मै कैसे "बाते" चार करू...!!




अजब है इन आँखों का भी..

तुमसे बात न हो तो पूरी रात नींद नहीं आती..


बात हो जाये तो ख़ुशी के मारे आँख नहीं लगती...!!




उफान में नदिया खूबसूरत और खतरनाक लगती है..

ऐसी ही लगती हैं सनम मेंरी जब वो चुन्नट वाली साडी पहनती हैं...!!




saree ki tareef wala love
chunnat sarees love


आज पड़ोसन बड़े प्यार से मुस्कुरा रही थी..

क्या समझू प्यार या सिलेंडर खत्म...!!






सुनो चुन्नट सूट वाली 

मेरी तमाम उलझने सुलझ जायेगी..

जिस दिन तेरी उँगलियाँ मेरी उँगलियों में उलझ जायेगी...




payal shayari in hindi
saree ki tareef wala love 



काश कोई ऎसी भी सुबह आये मेरी जिंदगी मे...


मेरी नींद खुले तेरी चुड़िओ की छन छन से...!!




तुम कुल्ल्हड में छलकती चाय सी..
मैं लबों से लगाने को बेकरार प्रिये...!!



Tea of chunnat love shayari
chunnat wali shayari 


बड़ी बे अदब है जुल्फें तेरी हर वो हिस्सा चूमती है..

जो ख्वाहिश थी मेरी "हाय" तेरी "जुल्फें"…!!




ये खुली खुली सी जुल्फें लाख तुम सँवारो..


जो मेरे हाथ से सँवरतीं तो कुछ और बात होती...!!


chunnat wali shayari
chunnat wali shayari



जो तुमने कल ख्वाबो में पायल पहनाई थी.. 


मेरे पैरो की रंगत निखर आई थी...!!




बेहद तारीफ़ करता रहा बिंदी में उसकी..

ओर फिर शब्द कम पड़ गए जब उसने जो झुमका पहना...!!





तुम को मालूम है कि क्या सच है..


तेरा मेरा प्रेम ही तो अनहद है...!!




 पता नहीं कौन सा विटामिन है..

तेरे प्यार में एक दिन बात ना हो तो


कमजोरी महसूस होने लगती है...!!




saree salwar suit shayari
chunnat wala suit 


थिरकते तेरे इन होंठों पर रूहानी अल्फाज़ लिख दूँ.. 

पास तो आ ज़रा इश्क़ का सारांश लिख दूँ...!!






यू तो लिबास बहुत होते है जनाब..

पर ये जो इश्क़ की चूनर होती है न..

इसे ओढ़ लेने के बाद कोई चुनर फिर ना अच्छी लगती...!!


female dance in saree
saree wala dance 


होंठों पे खेलती हैं तबस्सुम की बिजलियाँ.. 

        सजदे तुम्हारी राह में करती हैं कैकशाँ

दुनिया-ए-हुस्न-ओ-इश्क़ का तुम ही शबाब हो

          चौदहवीं का चाँद हो, या आफ़ताब हो

जो भी हो तुम खुदा की क़सम, लाजवाब हो ..!!







tulsi mere aagan ki shayari saree wali
chunnat wali saree




सुनो जान 

ना हो सकी इस जन्म गर में तेरी मेरे जानम जी.. 



बनाकर रख लेना तु मुझे तुलसी तेरे आगंन की...!!






मुझे अपने सिरहाने पर थोड़ी सी जगह दे दो..


मुझे भी 2 बजे तक नींद ना आने की कोई तो वजह दे दो...!!


Saree shayari in Hindi
Lal saree chunnat wali 


ये सुर्ख लब, ये रुखसार और ये "मदहोश" नज़रें..

इतने कम फासलों पर तो 'मयखाने' भी नहीं होते…!!


वो शर्मायें मेरे सवाल पर कि उठा सके न झुका के सर..

उड़ी ज़ुल्फ चेहरे पे इस तरह कि शबों के राज़ मचल गए...!!



प्रेम हो और जलन भी न हो ये मुमकिन नहीं साहिब..

मौहब्बत में महबूब लड़ाकू होने लगते हैं…!!






Post a Comment

0 Comments