Love Wali Shayri Sad Mix Shayari Hindi

लव शायरी  दोस्ती के लिए  दोस्तों दोस्ती पर कुछ शायरी लिखी ह दीजिये अपने हमसफर को इसकी सौगात और अपने दिल का हाल सुनाइये उस हम सफर को और शेयर करना ना भूले धन्यवाद .

sad shayri pic

This picture download yourquote.in my account


********************************************



हिरण सोने का चाहेगी जो सीता

बिछड़ जायेंगे उससे राम तय है...!!


********************************************



किसी न किसी पर दिल आ ही जाता है.. 

ये शायरी करते करते अजनबी भी यार बन जाता है...!!


********************************************



निगाहें ढूँढ़ लेती है कहाँ किसका ठिकाना है.. 

किसे आँखों में रखना है किसे दिल में बसाना है...!!



********************************************



प्रीत न कीजै पंछी जैसी जल सूखे उड़ जाए.. 

प्रीत करो मछली जैसी जो जल सूखे मर जाये...!!


********************************************



मैं शायर हूं मोहब्बत का , इश्क़ से नज्म सजाता हूं..

कभी पढ़ता हूं महोब्बत को, कभी मोहब्बत लिख जाता हूं..!!



********************************************




जहां पर आखिरी सांस होती है वहाँ पर रख लिया है तुमको.....

सोच लेना तुम गए और सांस गई...!!



********************************************



अंग्रेजी की किताब बन गई हो तुम.. 

पसंद तो आती हो पर समझ् मे नही...!!



********************************************



एक बेक़रारी सी है इन हवाओं में.. 

लगता है जैसे तू मौजूद हैं इन फिज़ाओं में...!!



********************************************



लिख भी दो.. अब दो शब्द..दोस्ती के..तुम मेरे लिये..

कह दो..दोस्त हो..तुम अब..जिंदगी भर के लिये...!!



********************************************



मेरे सुने से पैरों को अपनी मोहब्बत से भर दिया..

पहना के पायल का जोड़ा इन्हें अपनी कैद में कर लो...!!



********************************************




नहीं कोई जानकारी मेरे पास मौसम की.. 


बस इतना जानता हुँ, तेरी यादें तूफ़ान लाती है...!!



********************************************




सुबह-सुबह,तेरे ख्यालो से होकर गुज़रे हैं हम..



इसलिए आज.. बेइंतहा, महक रहें हैं हम...!!



********************************************


ज़िंदगी जीने के लिये क्या चाहिए .सिर्फ .. 

एक शख्स जो आपसे ज्यादा आपका हो...!!



********************************************



 पर्दों की क्या बिसात जो दीदार को रोक दे..

नज़र में धार हो तो क्या इस पार क्या उस पार...!!



********************************************



जुल्फें , गाल , होंठ , कमर..

एक नदी मे इतने भंवर...!!



********************************************



चुप चुप से क्यूं हो तुम भी कुछ दिल के हालात कहो..  

गीत गजल शायरी न सही आंखों से ही दिल जज्बात कहो...!!



********************************************


उसे छुना जुर्म है तो मेरी फ़ाँसी का इन्तजाम करो..

मेरे दिल की जिद है आज उसे सीने से लगाने की...!!


********************************************


क्या करेंगे उस सुलझी हुयी ज़िन्दगी का.. 

जिसमे तेरे ख़्यालों की उलझन ही ना हो...!!



********************************************



इतना भी खूबसूरत ना हुआ कर ऐ मौसम..

अब हर किसी के पास महबूब तो नहीं होता...!!



********************************************



तुम्हे हक था सबकुछ कह कर मुझे रोक लेने का..

खामोशी चुन कर तुमने मुझे पराया कर दिया...!!



********************************************



इश्क़ भी एक लत है बहुत तड़पाता है..

दिल ही नहीं लगता जब दिल किसी से लग जाये तो....!! 



********************************************



मुझे खैरात नहीं चाहिए बस अपने हक़ का इंतज़ार करता हूँ..

मैं इक बंद दरवाज़े जैसा हूँ तेरी दस्तक का इंतज़ार करता हूँ...!!



********************************************



सब करते हे तारीफ़ तेरी मगर..

मुझे तो बस शिकायतों वाला इश्क़ है तुझसे...!!




********************************************



डर सा लगता है अब रिश्तों से..

लोग थोडा देकर बहुत कुछ ले जाते है...!!



********************************************



य़कीन मानो तुम्हारे बाद..

हँस हँस के ठुकराये हैं इश्क के कई मौके मैंने...!!



********************************************



खुद को खोने का पता ही ना चला ..

किसी को पाने की, यूँ इंतेहा कर दी ममता...!!


********************************************



नाम तेरा भी लिख दिया है ए दोस्त..

ममता ने अपने आँसुओ के कर्ज़दारों में...!!


********************************************




ज़िन्दगी भर इम्तहान हम तेरे रहे,तुझे पाने के लिए..


पर नतीजे में तू किसी ओर का निकला...!!





********************************************



अलफ़ाज़ चुराने की हमें जरुरत ही ना पड़ी कभी..

तेरे बेहिसाब ख्यालों ने बेहताशा लफ्ज दिए...!!



********************************************



 साँस आख़री आए, और दो लफ़्ज़ कहने की बस मोहलत हो..

एक नाम तुम्हारा लूँ, एक नाम मुहब्बत हो...!!



********************************************



तेरी मोहब्बत की बाजी को यारा हम मान गए..

खुद तो वादों से बंधे नही हमे ही यादों से बांध गए...!!



********************************************



फ़रियाद कर रही है तरसती हुई निगाहें..

देखे हुए किसी को ज़माना गुजर गया...!!



********************************************



बस जाते है दिल में वह इजाजत लिए बगैर.. 

वो जिन्हें हम जिंदगी भर पा नही सकते...!!


********************************************



तजुर्बा एक ही था बयां करने को..

मैंने देखा ही नहीं इश्क़ दुबारा करके...!!



********************************************




थमा था हाथ उसने उस जाते हुए पल में..

उस एहसास की तपन आज तक कम ना हुई...!!



********************************************

Post a Comment

0 Comments