Shayri Sad Love Romantic Jokes In Hindi

मस्ती दोस्तों के साथ और कुछ खट्टी मीठी गजब शायरी   दोस्तों आज कुछ खास शायरी लाया हु पढ़कर बहुत मजा आने वाला ह पड़ोगे तब पता चलेगा और अपने दोस्तों को भी शेयर भी कीजिये जरा वो भी ले सके ऐसी चट पट्टी शायरी का मजा दोस्तों शेयर करना न भूले और जुड़े रहिये हिंदी शायरी वर्ल्ड के साथ धन्यवाद।







                                                                    hindi shayri world


अक्सर कदम आदमी के बहकते है लेकिन..
पायल औरत को पहना दी जाती है...!!!

*******************************


मुस्कुराहटें झूठी भी हुआ करती हैं यारों..
इंसान को देखना नहीं बस समझना सीखो...!!!

**********************************


पड़ोसन का सिलेंडर वाला अब ..
सीधा मुझे आवाज देता है 
ओ भाई साहब सिलेंडर आ गया है...!!!

**********************************

गुस्से में पहले ब्लॉक किया भी गया मुझे..
फिर फेक आई डी से पढ़ा भी गया मुझे...!!!

************************************

इश्क़ ताउम्र अजनबी ही रहे तो अच्छा है..
अहमियत खो देती हैं मंज़िलें पास आने के बाद...!!!

*************************************

 गुजर गया वक्त जब हम तुम्हारे तलबगार थे 
अब जिंदगी बन जाओ तो भी हम कबूल नहीं करेंगे...!!!

*************************************

अगले जनम मोहे girlfriend भी दिज्यो..
इस जन्म तो Direct wife ही दिज्यो भगवान ...!!!


***************************************************


जब लफ्ज़ अपनी कीमत खो देते है..
तो खामोशी अपने आप अच्छी लगती है...!!!

********************************


कौन समझ पाया है आज तक हमें..
हम अपने हादसों के एक लौते गवाह है...!!!

********************************


मुस्कुराहट पर शुरू और रुलाने' पर खतम..
इसी दास्ताने ज़ुलम को लोग मोहब्बत कहते हैं...!!!

**************************************


कौन फिरता है अब गली मोहल्लों में इश्क अब डिजिटल हो गया है..
कौन करता है अब बातें रूह की 'इश्क' अब फिजीकल हो गया है...!!!

**********************************************

तू भी कहां अलग है जमाने से..
मेरे जिस्म में एक खंजर तेरा भी है...!!!

*********************************


मैने पढी है हजारो आशिको की..
किताबे किसी मै नही लिखा मैरा यार मुझे मिला...!!!

******************************************

तेरे इश्क के तलबगार थे हम..
तेरी बेवफ़ाई ने मयखाने का मूलाजिम बना दिया...!!!

***************************************

बातों बातों में बिछड़ने का इशारा करके..
खु़द भी रोयी वो बहुत हमसे किनारा करके...!!!

*********************************


कुछ और उगता ही नही सिवाय तेरी यादों के..
दिल की जमीन पर बस तेरी जमींदारी है...!!!

*******************************

तुम आओ तो रूह लाना..
मैं जिस्मों से नहीं मिलता...!!!

********************

इकरार और इंकार की कश्मकश में फ़ना हो गयी ज़िन्दगी..
हाँ सुनने को हम तरस गये, 'ना' उन्होंने की नही...!!!

**************************************

केैसे सुनाऊँ तुम्हे अपनी दुख भरी दास्ताँ..
मेरे पास तो तुम्हारा 📱नम्बर भी नहीं है...!!!

*************************************


अब जिस्मों की चाहत है रूहानी इश्क़ का दौर कहा यारो..
अब तो इनकार का बदला भी तेज़ाब से लिया जाता है...!!!

******************************************


ना हवस तेरे जिस्म की ना शौक तेरी खूबसूरती का..
बेमतलबी सा बन्दा हूँ बस तेरी सादगी पे मरता हूँ...!!!

****************************************


मोहब्बत की बीमारी जिस लड़के को लगें..
दो बच्चों की मां भी उसे कुंवारी लगें...!!!

*****************************


प्लास्टिक वाली टॉर्च लेकर भी ढूढोगे ..
तो भी मेरे जैसा सर्व गुण सम्पन्न छोरा ना मिलेगा...!!!

****************************************

सुनो फलानी मेरी पोस्ट पर नही आती हो ..तुम कहि लँगडी तो नही हो गयी हो तुम...!!!

****************************


सुनो आखो में बहुत दर्द है..
तुम पलके चूम के झंडू बाम बनोगी क्या...!!!

*******************************


कोई बच्चों की माँ ही पट जाओ ..
कसम से तुम्हारे बच्चो को पी पी वाले जूते दिला दूँगा...!!!

*************************************


लफ्ज मे कितने भी खूबसूरत लिख दूं..
निखार तो तब आता है जब आप दिल से उफ्फ करते है...!!!

*****************************************

वाह रे आशिकों
मोहब्बत करो तो इनबॉक्स मे अकेले अकेले ..
ओर break up के बाद रोना धोना ग्रुप मे...!!!

*******************************
सुना है सावन मे मांगी हुई हर ख्वाहिश पूरी होती है..
तो मिलते हो खुद य़ा मांगु तुम्हे भगवान से...!!!

*********************************


लोग कहते है
इश्क बहुत बुरी चीज है, बर्बाद कर देती है..
तो नफरत कौन सा बैंक मैनेजर बना देती है...!!!

***********************************


हमनवाँ वो जो सर दर्द में डिस्प्रिन नहीं दे..
सरसों का तेल हाथ में लेकर
कहे आओ गोद में बैठो चम्पी कर दें...!!!

****************************


एक बात बोलूँ तुम भी रो दोगे..
जब तुम मुझे खो दोगे...!!!

*****************


दो घड़ी जीने की मोहलत तो मिली है हमको..
तुम भी मिल जाओ घड़ी भर तो क्या बात हो...!!!

***********************************


लफ़्ज़ों से कहाँ लिखी जाती है बेचैनियां मोहब्बत की..
मैंने तो हर बार तुम्हे दिल की गहराईयो से पुकारा है...!!!

*****************************************


जो गुजारी ना जा सकी हमसे..
हमने वो जिन्दगी गुजारी है...!!!

**********************


अफीम हैं मोहब्बत मेरी, तुम भूला ना पाओगे..
तुम लाख कोशिश कर लो, ये नशा उतार नापाओगे...!!!

**************************************




तेरी आँखों में ऐसी ताहीर हैं सनम..
पढ़ने वाला बेइमान हो जाता हैं...!!!

*************************

नाराज़गी मुझसे कुछ ऐसे भी जताती है वो..
ख़फ़ा जिस रोज़ हो काजल नही लगाती वो...!!!

********************************


तू मिले या न मिले, ये मेरे मुकद्दर की बात है..
सुकुन बहुत मिलता है, तुझे अपना सोचकर...!!!

*********************************


वो मुझे ज़िंदा देख कर बोले..
तुम्हे बददुआ भी नही लगती क्या...!!!

**********************************

इश्क उन्हें ही गुनाह लगता है..
जिनके इरादों मे मिलावट होती है...!!!

*************************

मैंने ऑसू रोकना तक सीखा हैं..
पता हैं पर तुम्हें रोक नही पाया...!!!

*************************


जो तेरे गाँव की तरफ़ जाती है..
उस हर एक बारात से डर लगता है...!!!

**************************

मेरा फोन नही उठाना है तो मत उठाओ..
बस इतना बता दो तबियत 'खराब' है या नियत..!!!

************************************


जब भी मेरी याद आये ,आसमान की तरफ देख लेना..
मेरे आंसू बारिश बनकर तेरे चेहरे पर बिखर जायेंगे...!!!

***************************************


मोबाइलों के दौर के आशिक को क्या पता..
रखते थे कैसे खत में कलेजा निकाल के...!!!

*******************************


तुम मेरे लिए अब कोई इल्जाम न ढूँढो..
चाहा था तुम्हें एक यही इल्जाम बहुत है...!!!

********************************

लगा कर उसने आज हाथों में मेंहदीं, कमाल कर डाला..
कुछ चाहने वाले मयखाने गयें, कुछ ने शहर ही बदल डाला...!!!

**********************************************


अब क्यूँ तकलीफ होती है तुम्हें इस बेरुखी से..
तुम्हीं ने तो सिखाया है कि दिल कैसे जलाते हैं...!!!

*************************************


इश्क चख लिया था इत्तफ़ाक से..
ज़बान पर आज भी दर्द के छाले है...!!!

****************************





Post a Comment

0 Comments